Saturday, May 25, 2024
spot_img
HomeTODAYS SPECIALPravasi Bharatiya Divas 2024 राष्ट्रीय प्रवासी दिवस

Pravasi Bharatiya Divas 2024 राष्ट्रीय प्रवासी दिवस

Pravasi Bharatiya Divas 2024 राष्ट्रीय प्रवासी दिवस

प्रवासी भारतीय दिवस का इतिहास

प्रवासी भारतीय दिवस का महत्व

उत्सव दिवस को कौन प्रायोजित करता है?

प्रवासी भारतीय दिवस 2024 थीम

Pravasi Bharatiya Divas 2024 राष्ट्रीय प्रवासी दिवस

प्रवासी भारतीय दिवस (एनआरआई दिवस)भारत के विकास में प्रवासी भारतीय समुदाय के योगदान को चिह्नित करने के लिए हर साल 9 जनवरी को मनाया जाता है ।  ।प्रवासी भारतीय एक सामान्य शब्द है जो उन लोगों पर लागू होता है जो वर्तमान में भारतीय गणराज्य के अंतर्गत आने वाले प्रदेशों से पलायन कर विदेश में बस गए हैं। भारत गणराज्य द्वारा 9 जनवरी को मनाया जाने वाला एक उत्सव दिवस है.यह 2003 से शुरु हुआ है ।यह दिन 9 जनवरी 1915 को महात्मा गांधी की दक्षिण अफ्रीका से मुंबई वापसी की याद में मनाया जाता है ।

प्रवासी भारतीय दिवस का इतिहास

पहला प्रवासी भारतीय दिवस 2003 को मनाया गया था । 2003 के बाद से यह हर साल आयोजित किया जाता है। CII और दूसरे हितधारकों के साथ मिलकर विदेश मंत्रालय इस कार्यक्रम को आयोजित करता है। इस दौरान खुब सेमिनार, पैनल चर्चा और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होते हैं। इसमें सांसद, विधायक, बिजनस जगत के दिग्गज, शिक्षाविदवान और विदेश में बसे भारतीय समुदाय के लोग शामिल होते हैं।

प्रवासी भारतीय दिवस का महत्व

मुख्य रूप से प्रवासी भारतीय दिवस का उद्देश्य भारत से अलग अलग देश में होकर भी  भारत सरकार के साथ जुड़ने, अपने अनुभव साझा करने और भारतीय समुदाय की विशेषज्ञता को साझा करने का मंच है। इस अवसर पर सरकार भारत की उपलब्धियों और प्रगति को प्रदर्शित करने के साथ ही प्रवासी भारतीयों से निवेश और बिजनस जुटाने की कोशिश करती है। इस अवसर पर बिजनस, अर्थव्यवस्था, शिक्षा, स्वास्थ्य, साइंस और टेक्नोलॉजी, सांस्कृतिक मसलों पर सत्र आयोजित होते हैं।

उत्सव दिवस को कौन प्रायोजित करता है?

प्रवासी भारतीय दिवस यह विभाग आयोजित करता है।

  • विदेश मंत्रालय
  • फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की)
  • भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई)
  • पूर्वोत्तर क्षेत्र के विकास मंत्रालय

प्रवासी भारतीय दिवस 2024 थीम

प्रवासी भारतीय दिवस एक उत्सव है जो भारत की प्रगति में विदेशों में रहने वाले भारतीयों के महत्वपूर्ण योगदान को स्वीकार करता है। इस उत्सव का मुख्य आकर्षण पीबीडी सम्मेलन है, जहां हाल के वर्षों में “आत्मनिर्भर भारत में योगदान” जैसे विषयों पर चर्चा की गई है।

 

spot_imgspot_img
RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Today Artical

Most Popular

You cannot copy content of this page